14 नवंबर को बाल दिवस क्यों मनाया जाता है इतिहास

    बाल दिवस को इंगलिश मे चिल्ड्रेन डे के नाम से जाना जाता है और हर साल बाल दिवस children’s day 14 नवम्बर को मनाया जाता है 14 नवंबर को बाल दिवस क्यों मनाया जाता है इतिहास.

    14 नवंबर को बाल दिवस क्यों मनाया जाता है ?

    बाल दिवस पंडित जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिन के उपलक्ष्य मे मनाया जाता है पंडित जवाहर लाल नेहरू को बच्चो से बहुत प्यार था साथ ही बच्चे भी उन्हे बहुत प्यार करते थे इसलिए पंडित जी को बच्चे प्यार से चाचा कह कर भी बुलाते थे बाल दिवस पंडित जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिन के शुभ अवसर पर मनाया जाता है

    bal divas

    पंडित जवाहर लाल नेहरू का इतिहास ?

    पंडित जवाहर लाल नेहरू या फिर चाचा नेहरू भारत देश के भूतपूर्व प्रधानमंत्री थे साथ ही महात्मा गांधी के साथ  मिलकर भारत देश को अँग्रेजी हुकूमत से आजादी दिलाने मे पंडित नेहरू जी का महत्वपूर्ण योगदान रहा भारत देश को आजादी मिलने के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री साल 1947 मे पंडीत जवाहर लाल नेहरू बने
    जवाहर लाल नेहरू जी का जन्म उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद मे मोतीलाल नेहरू जी के परिवार मे हुआ था और उनकी माता जी नाम स्वरूप रानी नेहरू है | पंडित जी अपने परिवार मे एकलोते बेटे थे और नेहरू जी विदेशो से बेहतरीन शिक्षा प्राप्त की थी जिससे उन्हे काफी जानकारी थी

    बाल दिवस मनाने के तरीका

    बाल दिवस के शुभ अवसर पर स्कूलो मे Program किया जाता है जिसमे बच्चे भाग लेते है जिसमे खाने पीने से लेकर डांस तक प्रोग्राम किया जाता है | यह एक खुशी मनाने का तरीका है कुछ स्कूल मे बाल दिवस पर निबंध, बायोग्राफी, लिखने को कहा जाता है तो कुछ स्कूल मे बाल दिवस पर स्पीच दे कर मनाया जाता है
    बाल दिवस बच्चो के लिए बहुत ही खाश दिन होता है और इस दिन बच्चे खूब मस्ती करते है

    बाल दिवस कविता 
    'प्रभात' 
    नेहरू चाचा तुम्हें सलाम 
    अमन-शांति का दे पैगाम 
    जग को जंग से बचाया 
    हम बच्चों को भी मनाया 
    जन्मदिवस बच्चों के नाम 
    नेहरू चाचा तुम्हें सलाम 
    देश को दी हैं योजनाएं 
    लोहा और इस्पात बनाए 
    बांध बने बिजली निकाली 
    नहरों से खेतों में हरियाली प्रगति का दिया इनाम 
    नेहरू चाचा तुम्हें प्रणाम

    Happy Children Day