बैंक लोन के प्रकार की हिंदी में जानकारी

    mujhe urgent loan chahiye लोन एक तरह का कर्जा होता है कई लोग सवाल करे है मुझे अर्जेंट लोन चाहिए कैसे मिलेगा इसके बारे में हम जल्दी ही जानकरी शेयर करेंगे आगे जाने बैंक लोन के प्रकार की हिंदी में जानकारी

    जब किसी ब्यक्ति द्वारा कमाई हुई आमदनी उसके खर्चे या उसके किसी कार्य को पुरा करने मे अक्षम हो जाती है तब उस ब्यक्ति द्वारा लोन लेने के विचार उत्पन्न होते है आज लगभग सभी जैसे - SBI, PNB, HDFC, Union Bank Of India इत्यादि बैंक लोन देती है अगर आपकी भी ऐसी समस्या है तो आप लोन ले सकते है.


    mujhe urgent loan chahiye
    • अल्पकालिक लोन  पैसे लौटाने की अवधि एक साल से कम 
    • मध्यकालिक लोन पैसे लौटाने की अवधि एक से तीन साल के बीच 
    • दीर्घकालिक लोन पैसे लौटाने की अवधि तीन साल के ऊपर

    बैंक लोन के प्रकार

    • पर्सनल लोन
    • गोल्ड लोन
    • प्रॉपर्टी लोन
    • होम लोन
    पर्सनल लोन अपने निजी कार्यो को करने के लिए जो लोन लिया जाता है उसे पर्सनल लोन कहते है जैसे बच्चो के स्कूल के फीस भरने के लिए, दवा हॉस्पिटल खर्च के लिए, किसी को महगी गिफ्ट देने के लिए या फिर घर के लिए महगा समान लेने के लिए इत्यादि | पर्सनल लोन पर ब्याज दर सभी बैंको के भिन्न भिन्न होते है जैसे की अभी SBI मे 17.65% वार्षिक ब्याज दर तह है. पर्सनल लोन Loan की ब्याज दर दूसरों लोनों की अपेक्षा अधिक होती है | पर्सनल लोन के लिए बैंक आपसे ज्यादा डोक्यूमेंट की डिमांड नहीं करते है वे बस आपकी इनकम देखकर आपका लोन पास कर देते है | पर्सनल लोन Short Term Necessity के लिए लेना चाहिए जिसे आप 4 वर्ष के दौरान लौटा देना अनिवार्य है

    गोल्ड लोन 
    बैंक हमे गोल्ड लोन तब देता है जब हम बैंक मे गोल्ड जमा करते है मतलब गोल्ड बैंक मे रखने के बदले लोन मिलता है | यह लोन आपके द्वारा जमा किए गए Gold की कीमत और Quality पर दिया जाता है | अधिकतर केश मे पाया गया है कि बैंक Gold के कीमत पर 80% लोन देता है | वैसे तो गोल्ड पर लोन कोई लेता है पर किसी प्रकार की इमेर्जेंसी होने पर इस तरह के लोन लिए जाते है | गोल्ड लोन पर पर्सनल लोन के अपेक्षा कम ब्याज लगता है | 

    प्रॉपर्टी लोन प्रॉपर्टी लोन घर के कागजात, जमीन या किसी और प्रॉपर्टी के कागजात गिरवी रखकर लिए गए लोन को Property Loan कहते है | यह लोन अधिकतम 15 साल के लिए दिया जाता है साथ ही यह लोन कागजात मे प्रदर्शित राशि का 40 - 60 % होती है |


    होम लोन 
    अगर किसी व्यक्ति को घर बनवाना होता है तो होम लोन ले सकता है होम लोन मे आपको घर बंववाने की कीमत के साथ, मकान का रजिस्ट्रेशन, स्टांप ड्यूटी, आदि के व्यय को जोड़कर बैंक से लोन ले सकते है | इस तरह के Loan मे Bank आपको कुल खर्च का 75 से 85 % लोन देती है और बाकी के राशि का इंतेजाम आपको खुद कही और से करना होता है | 

    मान लीजिए आपने एक प्लाट के लिए लोन लिया जिसकी कीमत 6 लाख आँकी है तो आप बैंक को केवल 6 लाख का 30 प्रतिशत मतलब 1 लाख 80 हजार दे दीजिए | बाकी की राशि धीरे धीरे घर बनने के विभिन्न स्तर तक जमा करते रहे | यह लोन भरने के लिए सामी 5 साल से 20 साल का होता है | ऋण की शर्तो के अलावा कुछ शुल्क भी देना होता है जैसे - process fee, administrative charges, legal fees, assessment fees etc.