चेचक के दाग का घरेलु उपचार दवा लक्षण

    chechak ka ilaj dawa चेचक जिसे चिकनपोक्स के नाम से भी जाना है साथ ही चेचक के प्रकार पर छोटी माता, बड़ी माता भी कहा जाता है अगर आप चेचक का इलाज खोज रहे है आगे जाने चेचक के दाग का घरेलु उपचार दवा लक्षण

    चेचक - चेचक रोग वायरस द्वारा फैलता है इसके किटाणु स्रोत्र - मल मूत्र, थूक, खुरन्टो इत्यादि है | इन स्रोत्रो से किटाणु हवा मे घुल जाते है |जब इंसान सांस लेता है तो यह किटाणु इंसानी शरीर मे प्रवेश हो जाए है जिससे चीकनपोक्स हो जाता है 


    chechak ki dava

    चेचक के लक्षण

    चेचक होने पर रोगी के अन्दर कुछ लक्षण दिखाई देते है जिससे पहचाना जा सकता है कि आपको चेचक हुआ है या नहीं 
    • बच्चों को बुखार आता है और वह दो दिनों तक रहता है। फिर शरीर में दाने निकल आते हैं। इसमें छह दिन बाद दाने स्वयं ही समाप्त हो जाते हैं लेकिन पीडि़त बच्चा कमजोर हो जाता है और शरीर की प्रतिरोधी क्षमता कमजोर हो जाती है |
    • यह लाल उभरे दाने से शुरू होता है। 
    • लाल दाने बाद में फफोलों में बदल जाते है। 
    • मवाद आने लगता है, मवाद फूटकर खुरदुरा हो जाता है। 
    • यह मुख्य रूप से चेहरे, खोपडी, रीढ और टांगों पर दिखाई देती है। 
    • इसमें तेज खुजली होती है। ​ 
    • भूख ना लगना, उल्टी होना इसका प्रमुख लक्षण है।

    चेचक के दाग का घरेलु उपचार दवा

    • तुलसी और अजवाइन का मिश्रण तैयार करे फिर इसका रोजाना सेवन करे | इस तरह चेचक और बुखार कम होने लगेगा
    • चिकन्पोक्स बढ्ने से रोकने के लिए आप रोजाना सुबह मे तुलसी के पत्तों का रस पी सकते है |
    • नीम पेड़ के पत्तों को उबालकर खाने से छोटी माता या चिकन्पोक्स मे लाभकारी साबित होता है |
    • करेला एंव हल्दी को आपस मे मिलाकर पीने से चेचक रोग ठीक हो जाएगा |
    • चेचक के दाग मिटाने के लिए नारियल तेल रोजाना लगाना चाहिए |
    • अंगूर को गरम पानी से धोकर खाए यह चेचक के लिए लाभकारी होता है |
    • भीगे हुए चने पर रोगी को अपने हाथ रखने चाहिए फिर चने को फेक देना चाहिए | भीगा हुआ चना चेचक का किटाणु सोखने का काम करता है |
    • चेचक के दानो मे घाव अगर बन चुके है तो इसे ठीक करने के लिए तो आप हल्दी और सूखा हुआ कथ्था बारिके पिस मिलाए और फिर सूखे हुए कथ्थे को ही अपने घाव पर लगाए | यह चेचक घाव ठीक करेगा |
    • चेचक रोगी को शहद चाटने को दे साथ ही जो फफोले फुट चुके है उन जगह शहद लगाए | इस तरह से रोगी के शरीर पर निशान नहीं होंगे साथ ही आंखे पर चेचक नहीं होगा |
    • चेचक का रोगी अगर 2 किशमिश एंव 2 मुनक्का सेवन करे तो उसे लाभ होगा |