चमार रेजिमेंट का इतिहास अर्थ इन हिंदी विकी

    chamar regiment in hindi चमार रेजिमेंट का इतिहास काफी पुराना है अक्सर लोग सवाल करते करते है चमार रेजिमेंट क्या है चमार रेजिमेंट का इतिहास अर्थ इन हिंदी में जानकारी तो ऐसे में हम आपको चमार रेजिमेंट के बारे में बताने वाले है.

    chamar regiment

    चमार रेजिमेंट क्या है ?

    चमार रेजिमेंट की शुरुवात 1943 में हुआ था इसकी शुरुवात अंग्रेजो ने दुसरे विश्व युद्ध के समय किया था लेकिन 1946 में चमार रेजिमेंट ख़त्म हो गया. अंग्रेजो ने चमार रेजिमेंट को युद्ध के लिए बनाया था इसलिए आजाद हिन्द फ़ौज से लड़ने के लिए चमार रेजिमेंट को अंग्रेजो ने सिंगापूर भेजा लेकिन इस रेजिमेंट ने अपने देश के लोगो से लड़ने से इनकार कर दिया और उल्टा चमार रेजिमेंट ने आजाद हिन्द फ़ौज के साथ मिलकर अंग्रेजो के खिलाफ युद्ध की शुरुवात कर दी इस कारण से ही अंग्रेजो ने चमार रेजिमेंट को रद्द कर दिया.

    आज के समय में चमार रेजिमेंट को बहाल करने के लिए आवाज उठाया जा रहा है लेकिन चमार रेजिमेंट क्या कभी बहाल होगा इसके बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता इस रेजिमेंट को बहाल करने के लिए कई बार धरने प्रदर्शन भी समय समय पर होते आ रहे है चमार रेजिमेंट के बहाली के लिए कानूनी मुकदमा भी लड़ा जा रहा है

    चमार रेजिमेंट का इतिहास

    • चमार रेजिमेंट के दो सैनिक अभी भी जिन्दा है पहला चुन्नी लाल दूसरा धर्म सिंह
    • रेजीमेंट एक ब्रिटिस शब्द है जो अंग्रेजो ने रखा है और भारत में दलित समुदाय को चमार कहा जाता है तो इस तरह से चमार रेजिमेंट नाम दिया गया
    • चमार रेजिमेंट को अंग्रेज जापानी सेना से लड़ाई करने के लिए बनाया था
    • केप्टन मोहन लाल कुरेल पहले ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने चमार रेजिमेंट को भंग करने पर विरोध किया
    • मोहन लाल कुरेल चमार रेजिमेंट के प्रमुख सदस्य थे
    • आजाद हिन्द फ़ौज के खिलाफ जंग न करने की वजह से चमार रेजिमेंट को अंग्रेजो ने रद्द कर दिया
    • चमार रेजिमेंट की शुरुवात 1943 और ख़त्म 1946 में किया गया
    • साल दो हजार पंद्रह में सबसे पहले इस रेजिमेंट के बहाली के लिए आवाज उठाया गया
    अगर आपको चमार रेजिमेंट के बारे में अधिक जानकरी है और यहाँ अपनी जानकारी शेयर करना चाहते है तो हमारे इमेल पते पर जानकारी भेज सकते है क्लिक से इमेल पता