हाइड्रोसील का घरेलु इलाज दवा का नाम बाबा रामदेव

    हाइड्रोशील पुरुषो मे पाये जाने वाला एक रोग है आगे जाने हाइड्रोसील का घरेलु इलाज दवा का नाम बाबा रामदेव, हाइड्रोशील के कारण लक्षण उपाय

    हाइड्रोशील पुरुषो के अंडकोश मे होने वाली एक समस्या या बीमारी है इस रोग मे पुरुष के एक या दोनों अंडकोषो मे पानी भर जाता है इस कारण अंडकोष एक थैली की तरह फुली हुई दिखाई पड़ती है | जिसे अवस्था को प्रोसेसस वजायनेलिस या पेटेंट प्रोसेसस वजायनेलिस भी कहा जाता है ऐसी स्थिति होने पर पुरुष को पीड़ा का एहसास भी रहता है ऐसा इसलिए क्योकि अंडकोष मे पानी भरने के कारण अंडकोष मे सूजन हो जाती है | यह रोग किसी को भी सकता है लेकिन आमतौर पर 40 से अधिक उम्र के पुरुषो मे यह अधिक पाया जाता है | हाइड्रोशील के उपचार के लिए जरूरी है अंडकोष से पानी निकालना

    हाइड्रोसील के लक्षण
    • अंडकोषों में तेज दर्द शुरूआती लक्षण
    • अंडकोष के आगे का भाग सूजना 
    • चलने फिरने में दिक्कत 
    • ज्ञानेन्द्रियों की नसों का ढीला और कमजोर पड़ना 
    • उल्टी, दस्त और कब्ज होन
    Hydrocele ka ilaj

    हाइड्रोसील का घरेलु इलाज दवा का नाम बाबा रामदेव ?

    • जिस भी व्यक्ति को हाइड्रोशील है उसे चाहिए की अपने अंडकोष को बांधकर रखे साथ ही अंडकोषो को लटकने से रोके |
    • अपने अंडकोष को ढीला न छोड़े साथ ही आपके यह रोग है तो आपको ज्यादा कूद फांद नहीं करना चाहिए ऐसा इसलिए क्योकि यह आपके हाइड्रोशील को बढ़ा सकता है |
    • हाइड्रोशील की सुंजन कम करने के लिए हल्दी को पानी मे पीसकर लेप बनाए और फिर अंडकोष पर लगाए |
    • हाइड्रोशील के लिए कुछ होम्योपेथिक दवाईया ले सकते है यह आपके लिए इन कार्यो के लिए जैसे  सूजन मे वृद्धि या अन्य विकारो के लिए लाभदायक होगा | यह स्पंजीया अंडकोष के कड़ेपन के लिए फ़ायदमंद है | बेलाडोना अंडकोष के लिए गर्मी एंव सूजन मे फायदेमंद है, कलकेरिया कार्ब अंडकोष वृद्धि की की उत्तम दवा है |
    • तम्बाकू के पत्तों पर थोड़ा सा तिल का तेल लगा ले फिर हल्का गर्म कर और अंडकोष पर लगाए बहुत आराम मिलता है |
    • बैगन की जड़ मे जल मिलाकर पिसे और अंडकोष पर 1 महीने तक लेप लगाए इस तरह से हाइड्रोशील ठीक हो जाएगा |
    • छोटी अरनी के पत्तों को पीसकर हल्का सा गरम करे फिर हाइड्रोशील पर बांध लीजिए इस तरह से हाइड्रोशील को खत्म किया जा सकता है

    हाइड्रोसील होने का कारण क्या है ?

    • अंडकोष पर चोट 
    • नसों का सूजना
    • स्वास्थ्य समस्यायें
    • बिना लंगोट के जिम या कसरत करना 
    • आनुवांशिक
    • अधिक शारीरिक संबंध बनाना 
    • भरी वजन उठाने 
    • दूषित मल के इक्कठा होने 
    • गलत खानपान