इस्लाम का मतलब क्या होता है का अर्थ मतलब इतिहास इन हिंदी

    islam meaning in urdu hindi इस्लाम के बारे में आपने सूना होगा लेकिन इस्लाम का सच असलियत क्या है आगे जाने इस्लाम क्या होता है का अर्थ मतलब इतिहास इन हिंदी.

    इस्लाम का मतलब ही होता है शांति और मानवता से प्यार करना लेकिन आज के समय मे इस्लाम के बारे मे लोगो के मन मे बहुत सी गलत धारणाएं हैं | इस्लाम एक अच्छा धर्म है लेकिन इस्लाम धर्म को लोगो ने सही से समझा ही नहीं क्योकि लोगो को इस्लाम की मूल बाते पता ही नहीं है इस्लाम क्या क्यू कैसे क्या है ?

    इस्लाम का मतलब क्या होता है ?

    इस्लाम एक ऐसा धर्म है जो सभी धर्मो को आधार और सम्मान देता है साथ ही इस्लाम अन्य धर्मो के लोगो से भाईचारे के साथ रहना सिखाता है इस्लाम इस बात को स्वीकारता है कि धर्म को लेकर किसी पर दबाव नहीं डालना चाहिए क्योकि अगर व्यक्ति अच्छा इंसान नहीं है तो वह कभी भी एक अच्छा मुसलमान नहीं बन सकता बहुत सारे देशों को दाढ़ी रखने वाले आदमी और बुर्का पहनने वाली महिलाओं से डर लगता है लोगों से लगने वाले इस अंजान से डर को इस्लामोंफोबिया कहा जाता है

    islam meaning in urdu hindi

    मुसलमान इस्लाम धर्म का इतिहास

    • सारे अरबी मुसलमान नहीं - आपको लगता होगा सारे अरबी मुसलमान है तो आप गलत है क्योकि सारे अरबी मुसलमान नहीं है क्योकि उनमे कुछ ईसाई, बौद्ध, यहूदी, एथेस्ट भी मौजूद है | इतना होने के बाद भी इंडोनेशिया मे मुस्लिमयो की जनसंख्या अधिक है |
    • मुस्लिम मोहम्मद [ स. अ. स. ] और मक्का की पूजा नहीं करते - इस्लाम धर्म मे अंतिम पैगम्बर मोहम्मद साहब को माना जाता है और इनका मरतबा [ पद ] इस्लाम धर्म मे बाकी पैगंबर से ऊंचा माना जाता है लेकिन मुस्लिम आपकी पूजा नहीं करते बल्कि आपके लिए मुस्लिम दिल से आदर और सम्मान करते है | आप ऐसे समझे, इस्लाम मे अल्लाह के सिवा किसी और की पूजा तो उसे पाप के समान समझा जाता है इसे इस्लामिक भाषा मे शिर्क के नाम से जाना जाता है | छोटे शब्दो मे कहे तो मक्का और मोहम्मद साहब [ स. अ. स.] मुस्लिम धर्म मे एक विशेष स्थान है लेकिन वह पूजा नहीं करते है
    • अल्लाह हु अकबर का मतलब - बहुत से लोग सोचते है कि इस शब्द का मतलब लोगो को डराने वाला होता लेकिन यह गलत बात है क्योकि अल्लाह हु अकबर मतलब है "अल्लाह महान है, अल्लाह सबसे बड़ा है "मुस्लिम लोग अपने दुख दर्द और चिंता मिटाने के लिए इसे बोलते है | आप इस शब्द का सीधा सा मतलब समझ सकते है ईश्वर महान है
    • इस्लाम मे यीशु की जगह - इस्लाम मे मानना है की यीशु अभी जिंदा है और वह दुनिया के सात आसमानों मे से सबसे पहले आसमान पर मौजूद है | इसलिए मोहम्मद साहब के मकबरे के पास ही यीशु के लिए खाश स्थान बनाया गया है | इस्लाम का यह भी मानना है एक दिन युशी आएंगे और फिर उन्हे मोहम्मद साहब के बगल मे बने खाश स्थान पर ही दफनाया जाएगा |
    • इस्लाम मे बुर्का या हिजाब का महत्व - इस्लाम मे बुर्का और हिजाब का मतलब अपने आपको ढकना है लेकिन यह मुस्लिम औरतों के लिए अनिवार्य नहीं है | वह भी मार्ड्न कपड़े पहन सकती है लेकिन शर्त यह कि शरीर का कोई हिस्सा दिखाई नहीं देना चाहिए |
    • इस्लाम मे मादक पदार्थ [ शराब ] पर पाबंदी - शराब या कोई भी मादक पदार्थ चीज आपको धीरे धीरे खत्म करता है साथ ही इस्लाम मे यह सब वर्जित है साथ ही इस्लाम मे आत्महत्या करना भी वर्जित है | इस्लाम का मानना है इन चीजों के सेवन के बाद अच्छा व्यक्ति भी बुरे काम करता है |
    • इस्लाम मे भूर्ण हत्या - इस्लाम मे बच्चे को भूर्ण मे मारना परतिबंध है साथ ही इसे गुनाह या पाप का नाम दिया है लेकिन कुछ शर्तो मे जैसे माँ की जान खतरे मे हो तो ऐसा करना सही है |
    • दुनिया का सबसे बड़ा धर्म - इस्लाम दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा धर्म है और तेजी से बढ़ता हुआ धर्म है | एक आकडे के अनुसार 2050 तक यह ईसाई धर्म के बराबर हो जाएगा |
    • मैरी या मरयम नाम - मैरी या मरियाम का नाम जितना बाइबल मे लिया जाता है उससे काही ज्यादा कुरान मे इनका जिक्र है |
    • मुसलमानो ने यहूदियो को भी बचाया था - द्वितीय विश्व युद्ध में बहुत से मुसलमानों ने नाजियों से यहूदियों को बचाने के लिए अपने जीवन का बलिदान दिया था |
    • मुसलमान हिंसा नहीं चाहते - हिंसा इस्लाम के खिलाफ है आपको जैसा हमने पहले ही बताया इस्लाम का मतलब शांति और लोगो से दया भाव रखना है | इस्लाम मानवता को भाईचारे से रहने को कहता है | आप ऐसे समझे इस्लाम के मोहम्मद साहब ने उन्हे भी प्यार दिया जिन्होने उन पर कचरा फेका था | तो अगर जो व्यक्ति अपने आप को मुसलमान कहता है और हिंसा फैलने का काम करता है वह इस हिसाब से मुसलमान नहीं हो सकता और इस बात को इस्लाम भी स्वीकार करता है |
    • इस्लाम मे यात्रा - इस्लाम मुस्लिम मे महिलाओ को अकेले यात्रा करने की मनाही की हुई है जिसका कारण उनकी सुरक्षा है | इस्लामी औरतों को चाहिए अपनी सुरक्षा के लिए अकेले यात्रा न करे फिर भी कुछ इस्लामिक औरते या लदकिया अकेले यात्रा करती है लेकिन कुछ मुस्लिम देशो मे अकेले यात्रा करने के कारण कानून बनाया गया है