मक्का मदीना में हिंदू क्यों नहीं जा सकते विडिओ जानकारी पर्दाफाश

    आपने भी सूना होगा मक्का में हिन्दू का प्रवेश वर्जित है लेकिन मक्का मदीना में हिंदू क्यों नहीं जा सकते इसकी जानकारी हर कोई चाहता है तो आज हम आपको इसका जवाब दे रहे है - मक्का मदीना में हिंदू क्यों नहीं जा सकते

    आपको बता दे मक्का जाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण शहर जेद्दाह है जोकि एक बंदरगाह है. यहाँ पर इसे अंतरराष्ट्रीय हवाई मार्ग सेंटर पर भी है.

    जेद्दाह में रास्तो पर कई तरह के बोर्ड लगे होते है और उनपर हिदायत लिखी हुई होती है - मक्का मदीना केवल इस्लाम के मानने वाले मुसलमान का प्रवेश वर्जित है मतलब दुसरे मजहब के मानने वाले लोगो का मक्का मदीना में प्रवेश वर्जित है. जेद्दाह से मक्का जाने वाले रास्तो पर जो हिदायत या सुचना लिखी होती है वह सब अरबी जुबान में लिखा होता है इसलिए इन्हें हर कोई नहीं पढ़ सकता.

    जबकि पहले लिखा होता था "काफिर' का मक्का मदीना में प्रवेश वर्जित है लेकिन आज के समय में इस लाइन को बदलकर लिख दिया गया है नानमुस्लिम यानी गैरमुस्लिम का मक्का मदीना में प्रवेश वर्जित है. गैरमुस्लिम यानी हिन्दू, यहूदी, पारसी, और बौद्ध भी मक्का मदीना में प्रवेश नहीं कर सकते.


    makka madina me hindu kyu nahi ja sakte

    मक्का मदीना में हिंदू क्यों नहीं जा सकते ?

    मक्का मदीना में हिन्दू या जो इस्लाम को मानने से इनकार करता है उसे जाने की अनुमति है ऐसा क्यों ? तो इस मामले पर इस्लाम के जानकार एक आलिम का ब्यान है जिन्होंने इस सवाल का जवाब बहुत ही अच्छी तरह से समझाया है -

    एक महिला ने आलिम से सवाल किया - आप लोग कहते हैं कि हिन्दू मुस्लिम में भाई चारा होना चाहिए और एक दूसरे के साथ मिलजुल कर रहना चाहिए. लेकिन जब आप लोग साल में एक बार हज करने के लिए मक्का मदीना जाते हैं तो वहाँ पर हिन्दू को क्यों नहीं जाने देते हैं,महिला का सवाल होता है कि एक तरफ आप लोग कहते हैं कि हिन्दू मुस्लिम सब बराबर हैं फिर मक्का मदीना में जाने की हिंदुओं को इजाजत क्यों नहीं है।

    इस सवाल के जवाब पर आलिम ने बताया मक्का मदीना में गैरमुस्लिम नहीं जा सकते इसका मिसाल पढ़े -
    जिस तरह से हम भारत के नागरिक होने के बाद भी कुछ भारत के हिस्सों में नहीं जा सकते, ख़ास तौर पर उन जगहों पर जहाँ सेना की छावनी होती है और सेना के राज होते है, ऐसी जगह पर केवल वतन पर जान लुटाने वाले ही जा सकते है जैसे - सेना में भर्ती हुए जवान 

    ठीक इसी तरह से मक्का और मदीना भी है जिसे इस्लाम की छावनी कहाँ जाता है इसलिए यहाँ पर केवल वही जा सकता है जो इस्लाम पर अपनी जान लुटा सकता है इसलिए मक्का मदीना में केवल मुसलमानों को जाने की इजाजत है .

    आलिम ने बात और कही जब हम एक देश से दुसरे देश जाते है तो हमें वीजा की जरुरत पड़ती है अगर हमारे पास वीज़ा नहीं होगा तो हमें किसी दूसरे देश का टिकट ही नहीं दिया जाएगा।ऐसे मक्का मदीना जाने के लिए भी वीज़ा की ज़रूरत होती है, और वह वीज़ा इस्लाम का कलमा है,अगर कोई मक्का मदीना जाना चाहता है तो वह कलमा पढ़ ले,उसके बाद वह आराम से मक्का मदीना जा सकता है।

    तो दोस्तों इस कारण से मक्का मदीना में गैरमुस्लिम, नानमुस्लिम और इस्लाम को न मानने वालो को जाने से रोका गया है.