सिम पोर्ट क्या होता है करने का तरीका नियम ऑनलाइन Mobile Number Port Kaise Kare

    अगर आप अपने पुराने सिम प्रोवाइडर से परेशान है तो आप किसी अन्य नेटवर्क में उसी नंबर को आसानी से कर सकते है इसके लिए सिम पोर्ट करना होगा आगे जाने सिम पोर्ट क्या है सिम पोर्ट करने का तरीका नियम रूल्स ऑनलाइन.

    सिम पोर्ट क्या होता है?

    जब कोई सिम यूजर बिना सिम नंबर बदले एक मोबाइल कंपनी के सेवा से दूसरे कंपनी के सेवा लेता है तो इस प्रक्रिया को सिम पोर्ट कहा जाता है सिम पोर्ट को एमएनपी के नाम से भी जाना जाता है आसानी से समझे - मान लीजिए आपका सिम वोडा कम्पनी का है लेकिन बिना सिम नंबर बदले अगर आप एयरटेल मे चले जाते है तो इसे MNP या मोबाईल नंबर पोर्ट कहा जाता है

    आज के समय मे आप एक राज्य से दूसरे राज्य के लिए भी मोबाइल नम्बर पोर्ट कर सकते है लेकिन पहले ऐसा नहीं था . पहले अगर आप up के रहने वाले है तो up की ही सर्विस पोर्ट के द्वारा ले सकते है लेकिन आज के समय मे आप एक राज्य से दूसरे राज्य की सर्विस पोर्ट number के माध्यम से ले सकते है । 

    सिम कम्पनी जब मनमाने तरीके से अपने सर्विस को मंहगा कर देती है या फिर नेटवर्क कमजोर इत्यादि समस्या से जब कोई सिम यूजर परेशान होता है तो सिम यूजर सिम नंबर पोर्ट करके दूसरी सिम कम्पनी मे जाना चाहता है तो अगर आप भी किसी कम्पनी के मनमानी या नेटवर्क समस्या से परेशान है तो आप सिम पोर्ट कर सकते है । 

    mobail number port online kaise kare

    सिम पोर्ट करने का तरीका नियम ?

    • सबसे पहले जिस फोन नम्बर को पोर्ट करना है उससे आपको sms भेजना है . sms मे निम्नलिखित sms भेजे .Port<space>Mobail Number> भेजे 1900 number पर Ex - PORT 9025444098 >< भेजे 1900 पर
    • मैसेज भेजते ही कुछ ही सेकंड के देरी पर एक पोर्टिंग कोड यानि UPC Number आपके मोबाइल नंबर पर मिलेगा जिसकी वैधता 15 दिन होगी.
    • अब प्राप्त हुए पोर्टिंग कोड को लेकर अपने नजदीक के किसी मोबाइल सर्विस स्टोर पर जाये और जिस कम्पनी मे आप अपना सिम पोर्ट करवाना चाहते है स्टोर वाले को बताये .
    • मोबाइल स्टोर का मालिक आपसे कुछ रुपए लेगा उसके बाद आपको जिस कंपनी का सिम पोर्ट द्वारा चाहिए था वह सिम दे देगा.
    • सिम प्राप्त होने के बाद आपका पोर्टेबिल्‍टी का कंफर्मेशन एक दिन के भीतर पूरा हो जाएगा.
    • आपका नंबर बदलने मे 7 दिन यानि एक हफ्ता का समय लग सकता है.
    • पोर्टिंग की प्रोसेस होने के बाद सभी जरूरी जानकारी आपको एसएमएस द्वारा प्राप्त होती रहेगी |
    • एक बार पोर्टिंग प्रोसेस पूरा हो जाने के बाद आपका पुराना सिम कार्ड बेकार हो जाएगा. क्योकि पोर्टिंग कराने के बाद आपको नया सिम प्राप्त होता है और जो मोबाइल नंबर आप चाहते थे वह मनचाहा नंबर आपको मिल जाएगा.
    • ओल्ड सिमकार्ड बंद हो जाने पर आप अपना न्यू सिम कार्ड प्रयोग मे ले सकते है.

    सिम पोर्ट करने का तरीका नियम शर्ते

    • आप सिम पोर्ट कर सकते है लेकिन उसी राज्य से जहां से आपने सिम खरीदा है या फिर आपने जहां की प्रूव आईडी लगाया है .
    • सिम पोर्ट करने के लिए आपके पास 90 दिन पुराना सिम होना चाहिए .
    • अगर आपके फोन number से लोन लिया है तो आपको balance को भर्ना होगा उसके बाद ही आप उस कम्पनी को छोड़ सकते है .
    • आपको पोर्ट करने के लिए आईडी प्रूव देना होगा जैसे - आधार कार्ड