नार्मल डिलीवरी के लिए दादी माँ के नुस्खे

    normal delivery kaise hoti hai in hindi नार्मल डिलीवेरी टिप्स हर एक लड़की या लड़का शादी के बाद एक प्यारा सा स्वीट सा बेबी चाहता है लेकिन स्वीट से बेबी के लड़कियो को माँ बनना पड़ता है | जब लड़की माँ बनती है तो उसे अपनी सुरक्षा को लेकर एक प्रकार के डर सताने लगते है | लगभग हर कोई यही चाहता है की नार्मल डिलीवेरी हो तो बढ़िया रहेगा | आपको तो पता ही होगा नार्मल डिलिवरी एक प्राकृतिक क्रिया है | अगर गर्भवती महिला नार्मल डिलिवरी की चाह रखती है तो कुछ छोटी छोटी बाटो का ख्याल रख कर नार्मल डिलिवरी पा सकती है आगे जाने नार्मल डिलीवरी के लिए दादी माँ के नुस्खे.

    normal delivery kaise hoti hai in hindi

    नार्मल डिलीवरी के लिए दादी माँ के नुस्खे

    • अगर आप चाहती है नार्मल डिलीवेरी तो हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन रोजाना आहार के रूप मे करे | क्योकि हरी पत्तियों मे पानी की मात्रा अधिक पाया जाता है जोकि आपके नार्मल नार्मल डिलिवरी मे मददगार साबित होगा
    • अगर आप गर्भवती है तो रोजाना 8 - 10 गिलास पानी जरूर पीजिए इससे बच्चे को पानी की कमी नहीं महसूस होगी साथ ही नार्मल डिलीवेरी मे मददगार साबित होगा
    • माँ स्वस्थ होगी तो बच्चा भी स्वस्थ होगा इसलिए गर्भवती महिला अपने सेहत का ख्याल रखे साथ ही बच्चे के विकास के लिए रोजाना के आहार पर ध्यान दे | डॉक्टर द्वारा दिये गए आइरन और कैल्सियम की गोलिया का सेवन जरूर करे
    • प्रेग्नेंसी का दूसरा महिने से लेकर आखिरी महीने तक कुछ समय तक पैदल चले साथ ही हमेशा खुश रहने की कोशिश करे
    • आप जो भी आहार लेती है उसका असर आपके बच्चे की सेहत पर पड़ेगा इसलिए आप खुद के आहार मे हरी सबजिया, फल, देती प्रोडेक्ट को भी शामिल करे
    • गर्भवती महिला का जब सातवा महिना आ जाए तो उसे चाहिए की रोजाना आहार मे 2 -3 खजूर और ड्राई फ्रूट शामिल करने की इसका फाइदा नार्मल डिलीवेरी करने मे मिलेगा |
    • वजन का ख्याल रखे और ध्यान रहे आपका वजन न बढ्ने पाए क्योकि ज्यादा वजन होने पर नार्मल डिलीवेरी असंभव हो जाता है
    • गर्भवती महिला को चाहिए की रोजाना आसान व्यायाम योगा करे | यह फायदेमंद होगा |
    • डिलिवरी के लिए मांसपेशियो का मजबूत होना बहुत जरूरी है इसलिए आप फिटनेस सेंटर जॉइन कर सकती है |
    • सबसे जरूरी बात एक बढ़िया हास्पिटल मे जाए क्योकि अधिकतर हॉस्पिटल मे जानबुझ कर ऑपरेशन द्वारा बच्चे पैदा करने को कहते है क्योकि ऑपरेशन मे खर्चा अधिक आत है और इसमे जो द्वाइया आप खरीद कर लाते है उनसे डाक्टरों के कमीशन जुड़े होते है | इसलिए अधिकतर हॉस्पिटल नार्मल डिलिवरी न करके ऑपरेशन से डिलिवरी करने को कहते है |