श्री राधा जी के 32 नाम हिंदी में जाने

    radha ji ke 32 naam अगर आप श्री राधा जी के 32 नामो का स्मरण करते है तो आपके जीवन मे सुख, प्रेम और शांति की प्राप्ति होगी आगे जाने श्री राधा जी के 32 नाम क्या है.

    radha ji ke 32 naam

    श्री राधा जी के 32 नाम

    कर जोरि वन्दन करूं मैं नित नित करूं प्रणाम रसना से गाती/गाता रहूं श्री राधा राधा नाम
    • मृदुल भाषिणी राधा ! राधा !! 
    • सौंदर्य राषिणी राधा ! राधा !! 
    • परम् पुनीता राधा ! राधा !! 
    • नित्य नवनीता राधा ! राधा !! 
    • रास विलासिनी राधा ! राधा !! 
    • दिव्य सुवासिनी राधा ! राधा !! 
    • नवल किशोरी राधा ! राधा !! 
    • अति ही भोरी राधा ! राधा !! 
    • कंचनवर्णी राधा ! राधा !! 
    • नित्य सुखकरणी राधा ! राधा !! 
    • सुभग भामिनी राधा ! राधा !! 
    • जगत स्वामिनी राधा ! राधा !! 
    • कृष्ण आनन्दिनी राधा ! राधा !! 
    • आनंद कन्दिनी राधा ! राधा !! 
    • प्रेम मूर्ति राधा ! राधा !! 
    • रस आपूर्ति राधा ! राधा !! 
    • नवल ब्रजेश्वरी राधा ! राधा !! 
    • नित्य रासेश्वरी राधा ! राधा !! 
    • कोमल अंगिनी राधा ! राधा !! 
    • कृष्ण संगिनी राधा ! राधा !! 
    • कृपा वर्षिणी राधा ! राधा !! 
    • परम् हर्षिणी राधा ! राधा !! 
    • सिंधु स्वरूपा राधा ! राधा !! 
    • परम् अनूपा राधा ! राधा !! 
    • परम् हितकारी राधा ! राधा !! 
    • कृष्ण सुखकारी राधा ! राधा !! 
    • निकुंज स्वामिनी राधा ! राधा !! 
    • नवल भामिनी राधा ! राधा !! 
    • रास रासेश्वरी राधा ! राधा !! 
    • स्वयं परमेश्वरी राधा ! राधा !! 
    • सकल गुणीता राधा ! राधा !! 
    • रसिकिनी पुनीता राधा ! राधा !!
    अगर कोई व्यक्ति पुरे श्र्धा भाव से राधा नाम के नाम को जपता है उस व्यक्ति को प्रभु गोद मे बेठाकर अपना स्नेह देते है | ब्रहमवैवर्त पुराण मे इस बात को खुद श्री विष्णु जी ने कहा है कि जो व्यक्ति जाने अंजाने मे राधा नाम कहेगा उसके आगे मे सुदर्शन लेकर चलता हु और उसके पीछे भगवान शिव जी उनका त्रिसुल लेकर चलते है साथ ही दायी और इन्द्र व्रज और बाई और वरुण देव छत्र लेकर चलते है |