सफेद दाग का रामबाण इलाज कारण पंतजलि

    सफ़ेद दाग अगर किसी को हो जाये तो समझो उसकी लाइफ एकदम से बदल जाती है क्योकि लोग उस व्यक्ति से दूर रहने लगते है इसलिए सफ़ेद दाग का इलाज समय रहते ही करना उचित है अगर शुरुवाती समय मे सफ़ेद दाग का इलाज न किया जाये तो यह एक लाइलाज बीमारी का रूप ले लेती है इस रोग को कोढ के नाम से जाना जाता है और साथ ही इसे लोग छुवाछूट से फैलने वाला रोग भी कहते है इस रोग के होने के बाद लोग मरीज के साथ उठना बैठना और खाना नहीं चाहते है इस तरह से मरीज के दिमाग मे हिन भावना भरने लगती है ऐसे मे इस रोग का इलाज करना बहुत ही जरूरी है आगे जाने सफेद दाग का रामबाण इलाज पतंजलि

    safed daag hone ka karan

    सफेद दाग होने का कारण

    • जब किसी व्यक्ति की रोगप्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है तब स्किन का रंग चेंज होने लगता है क्योकि इस तरह से व्यक्ति की कोशिकाए कार्य करना बंद कर देती है | इस कारण व्यक्ति को सफ़ेद दाग जैसे रोग होने की संभावना होती है | यह रोग धीरे धीरे शरीर के पूरे भाग मे फैलने लगता है
    • कई लोगो का कहना है की इस रोग का होने का कारण कोशिकाओ का आपस मे एक दूसरे से लड़ना है क्योकि कोशिकाए जब एक दूसरे को पहचान नहीं पाती तो आपस मे लड़ने लगती है इस कारण से त्वचा का रंग बदलना शुरू हो जाता है और सफ़ेद दाग जैसे रोग पैदा करती है
    • अगर कोई मछ्ली के साथ दूध का सेवन करता है तो यह रोग होने का खतरा बना रहता है दूध दही और नमक एक साथ सेवन साथ मे सेवन नहीं करना चाहिए साथ ही दूध के साथ पपीता, खरबूज इत्यादि नहीं खाना चाहिए

    सफेद दाग का रामबाण इलाज

    • अगर आपको सफ़ेद दाग है तो आपके देखना चाहिए कितने दिन से यह रोग है | मान लीजिए आपको सफ़ेद दाग 3 महीने से है तो आपको 3 महीने तक प्राणानायम करना चाहिए | क्योकि कहते है जीतने दिन सफ़ेद दाग को हुए है उतने दिन प्राणायाम करने से सफ़ेद दाग दूर हो जाते है |
    • रोजाना सुबह उठाने के बाद ताँबे के बर्तन मे रखा हुआ पानी पीना चाहिए अगर 3 गिलास रोजाना ताँबे के बर्तन का पानी पीते है तो आपको बहुत तेजी से फायदा दिखाई देगा | क्योकि ताँबे के बर्तन मे त्वचा का खोया रंग लाने मे बहुत असरकार माना जाता है | यह दाद खाज खुजली जैसे रोगे मे भी असरदार माना जाता है
    • नीम की पत्ती को सबसे पहले जलाए और फिर राख़ को नीम के तेल मे भिगोकर जहा जहा पर सफ़ेद दाग है वहा पर लगाये अगर आप नीम के पेड़ की नीबोली, पत्ते और फूल को एक साथ पीसकर रोजाना पीते है तो सफ़ेद दाग का इलाज हो जाता है इस तरह का इलाज आपको 45 दिन तक करना होता है
    • बाबा रामदेव के उत्पादो से भी आप सफ़ेद दाग का इलाज कर सकते है अगर आपको पतंजलि के प्रोडक्ट से सफ़ेद दाग से छुटकारा पाना है तो हम आपको नाम बताने जा रहे है
    • दिव्य बकुची चूर्ण (यह सफ़ेद दाग में सबसे ज्यादा प्रभावकारी होता है) दिव्य गिलोय सत (यह रोगप्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है जिससे मर्त कोशिकाएं वापस जीवित होने लगती है व सफ़ेद दाग दूर होते है अन्य लाभकारी उत्पाद - दिव्य कायाकल्प तेल (पतंजलि) दिव्य कायाकल्प वटी (पतंजलि) आरोग्यवर्धिनी वटी (पतंजलि)

    सफेद दाग में क्या-क्या खाना चाहिए ?

    • इस बीमारी में परहेज का विशेष महत्त्व होता है, इसलिए ज्यादा तीखी, मिर्च मसाला, ज्यादा तेल आदि से बनी चीजे बिलकुल न खाये. अल्कोहल, सिगरेट्स आदि भी न करे. 
    • सिर्फ सात्विक भोजन करे, लोकि, टमाटर, अनार, सेब, अंगूर, पपीता, नारियल आदि फलों का रस पिए. सभी तरह की पत्तेदार हरी सब्जियां खा सकते है, इसमें ज्यादा लोकि की सब्जी खाये.
    • सफ़ेद दागो में खुजली होने पर नाख़ून का प्रयोग न करे 
    • सोने से 4 घंटे पहले ही भोजन कर लें 
    • रोजाना नीम के पत्तों के पानी से स्नान करे 
    • तांबे के बर्तन में रखा पानी पिए 
    • साबुन शैम्पू अन्य सुंदरता बढ़ाने वाले उतपादों का प्रयोग बंद करे 
    • सुबह शाम टहलने जाए अनुम विलोमा, कपालभाति प्राणायाम अवश्य करे.