विषाणु की खोज किसने किया एंव खोजकर्ता

    क्या आप जानते है विषाणु की खोज किसने किया विषाणु के प्रकार नहीं तो जानिए विषाणु के बारे मे खोज के बारे में

    visanu ki khoj

    विषाणु की खोज किसने किया एंव खोजकर्ता

    विषाणु की खोज रूस के वैज्ञानिक इवानविस्की ने 1892 ई. मे किया था [ तंबाकू मे मोजेक रोग पर खोज के समय ] इनकी प्रकृति सजीव एंव निर्जीव दोनों प्रकार की होती है | इसी कारण इन्हे सजीव एंव निर्जीव की कड़ी भी कहा जाता है | विषाणु के बारे मे विषाणु के निर्जीव होने के लक्षण - 
    • यह कोशा रूप मे नहीं होते है
    • इनको क्रिस्टल बनाकर निर्जीव पदार्थ की भांति बोतलों मे भरकर वर्षो तक रखा जा सकता है 
    विषाणु के सजीव होने के लक्षण 
    • इनके न्युक्लिक अम्ल का दिवगुणन होता है |
    • किसी जीवित कोशिका मे पहुचते ही यह सक्रिय हो जाते है और एंजाइमो का संश्लेषण करने लगते है
    परपोषी प्रकृति के अनुसार विषाणु 3 प्रकार के होते है - 
    1. पादप विषाणु - इनका न्यूक्लिक अम्ल मे आर.एन.ए. होता है |
    2. जन्तु विषाणु - इनमे डीएनए या कभी कभी आरएनए भी पाया जाता है |
    3. वैक्ट्रीयोफेज जीवाणुभोजी - यह केवल जीवाणुओ पर आश्रित होते है साथ ही यह जीवाणु को मार भी देते है | इनमे डीएनए पाया जाता है जैसे - टी 2 फैज 
    नोट - जिस विषाणु मे आरएनए आनुवंशिक पदार्थ होता है उसे रेट्रोविषाणु कहा जाता है |