अस्थमा को जड़ से खत्म कैसे करें की आयुर्वेदिक दवा इलाज Patanjali

asthma ka ilaj in hindi asthma ka ayurvedic ilaj asthma ka jad se ilaj in hindi अस्थमा का सफल उपचार asthma ka gharelu ilaj asthma ka upchar Patanjali

    dama ka ilaj Patanjali अस्थमा जिसे हिंदी में दमा के नाम से जाना जाता है इस बीमारी में व्यक्ति को सांस लेने में समस्या होती है इसलिए अस्थमा को जड़ से ख़त्म कैसे करे ? अस्थमा का घरेलु इलाज आयुर्वेदिक दवा करना जरुरी होता है. अस्थमा फेफड़ो पर प्रभाव डालता है इसलिए सांस लेने के लिए जो नलिया होती है उनमे सुजन आ जाती है और अस्थमा रोगी को सांस लेने में समस्या होती है. ऐसे में बहुत से लोग अस्थमा का लोग घरेलु इलाज और दवा घर से शुरू कर देते है लेकिन इसका इलाज सही तरह से न होने की वजह से ठीक नहीं हो पाता ऐसे में हम आज अस्थमा को जड़ से आयुर्वेदिक दवा इलाज इन हिंदी [ Patanjali dama ka ilaj ] में जानेगे.

    asthma ka ilaj patanjali


    अस्थमा या दमा क्या है? What is Asthma?

    अस्थमा या दमा सांस से जुडी हुई एक बिमारी है जिसमे रोगी को सांस लेने में दिक्कत उठानी पड़ती है अस्थमा को आयुर्वेद में तमक श्वास के नाम से पुकारा जाता है. यह रोग कफ बनने की वजह से उत्पन्न होता है ऐसे रोगियों को सांस लेने पर सीटी बजने की आवाज सुनाई पड़ती है. आप अस्थमा को जड़ से ख़त्म करने के लिए आयुर्वेदिक दवा इलाज बहुत ही आसानी से कर सकते है.

    अस्थमा के प्रकार (Types of Asthma)

    • पेरिनियल अस्थमा
    • सिजनल अस्थमा
    • एलर्जिक अस्थमा
    • नॉन एलर्जिक अस्थमा
    • अकुपेशनल अस्थमा
    • एलर्जिक अस्थमा
    • नॉन एलर्जिक अस्थमा
    • सिजनल अस्थमा
    • अकुपेशनल अस्थमा

    अस्थमा के लक्षण (Symptoms of Asthma in Hindi)

    दमा या अस्थमा के लक्षण (asthma ke lakshan) की बात करे तो इसके कई तरह के लक्षण दिखाई देते है जिनमे से मुख्य निम्नवत है -
    • सांस लेने में तकलीफ
    • लगातार खासी आना 
    • सिटी की आवाज सांस लेते समय आना
    • छाती में जकड़न महसूस होना
    • सांसो का फूलना
    • बेचैनी महसूस होना
    • गला सुखा महसूस होना

    अस्थमा रोकने के घरेलु उपाय इन हिंदी

    • एक दमा मरीज को धुल मिटटी और बारिश से दूर रहना चाहिए. बारिश के मौसम में नमी अधिक होता है इसलिए संक्रमण अटैक का खतरा अधिक बनता है
    • ठण्ड और नमी के स्थानों से परहेज करना चाहिए क्योकि इनके सम्पर्क में आने से अस्थमा के लक्षण बढ़ सकते है
    • अस्थमा रोगी को हमेशा घर से बाहर निकलने से पहले मास्क लगाना चाहिए
    • धुम्रपान न करे और अगर कोई करता है तो उससे दूर रहे. 
    • अपने खान पान भी ध्यान दे और ठंडी चीजे खाने से परहेज करे.

    अस्थमा का घरेलू उपचार (asthma treatment in hindi) और खानपान

    • मछली और तला हुआ भोजन खाने से परहेज करे
    • मीठाई, दही और ठंडा पानी या ठंडा खानपान वाली चीजे से परहेज करना चाहिए
    • अस्थमा रोगी को घी और कार्बोहाइड्रेट वाली चीजे नहीं खाना चाहिए

    अस्थमा को जड़ से खत्म कैसे करें की आयुर्वेदिक दवा इलाज Patanjali

    • बाबा रामदेव के अनुसार अस्थमा के रोगी को स्वासारी क्वाथ को उपयोग में लेना चाहिए क्योकि यह एलर्जी से बचाता है साथ ही इसके लगातार सेवन करने से अस्थमा रोग दूर जड़ से हो सकता है.
    • गिलोय एक ऐसी चीज है जो कई तरह के रोगों से लड़ने के लिए कारगार है ऐसे में अस्थमा के लिए गिलोय रामबाढ़ साबित हो सकता है तो अस्थमा रोगी रोग दूर करने के लिए गिलोय का सेवन कर सकते है.
    • हल्दी का सेवन भी करना चाहिए क्योकि हल्दी केंसर जैसी बिमारी को दूर करने में कारागार है ऐसे में हल्दी को दूध में डालकर तीन से चार उबाल कर अस्थमा रोगी को पीना चाहिए
    • पालक और गाजर को एक साथ पीसकर यांकी मिक्स करके रस पिने से अस्थमा रोगी को बहुत ही फायदा मिलता है
    • सर्दी जुखाम को खत्म करने के लिए आंवला का सेवन किया जाता है और अस्थमा भी कफ बनने के वजह से होता है ऐसे में आंवला बहुत ही गुणकारी साबित होगा इस रोग में 


    👉शादी के लिए लड़की लड़का का नंबर फ्री में पाए रजिस्टर करे

    Iklan Atas Artikel

    Iklan Tengah Artikel 1

    Iklan Tengah Artikel 2

    Iklan Bawah Artikel