छिपकली का वैज्ञानिक नाम और रोचक जानकरी

    chipkali ka vaigyanik naam छिपकली अक्सर हमारे घरो मे देखा या पाया जा सकता है छिपकली का वैज्ञानिक नाम लैसर्टीलिया है कहा जाता है कि छिपकली रैपटाइल परिवार का सबसे बड़ा प्रजाति है जबकि रैपटाइल परिवार मे साँप, मेढक, और कछुवा जैसी कई अन्य प्रजातिया भी शामिल है छिपकली घर मे होने के कुछ फायदे भी होते है जैसे - जब हमारे घर मे लाइटों और बल्बो या फिर मकान की दीवारों पर कीड़ो मकोड़े हो जाते है तो छिपकली उन्हे खा जाती है जो की हमारे लिए बहुत अच्छा होता है आगे जाने छिपकली का वैज्ञानिक नाम और रोचक जानकरी

    chipkali ka vaigyanik naam

    छिपकली का वैज्ञानिक नाम और रोचक जानकरी

    • छिपकली का वैज्ञानिक नाम लैसर्टीलिया है
    • सबके नाक कान से अलग जगह होती है छिपकली की नाक आपको जानकर आश्चर्य होगा की छिपकली की नाक जीभ पर होती है और यही कारण है कि छिपकीलिया किसी वस्तु की गंध सूंघने के लिए अपने जीभ को बार बार बाहर निकालती है |
    • दुनिया की सबसे बड़ी और खतरनाक छिपकली कोमोडो ड्रागन है जिसकी लंबाई 10 फुट और वजन 300 पौंड होता है | इस छिपकली से इंसान भी बच कर रहते है कारण यह इन्सानो को भी बख्सती |
    • छिपकली की पुंछ छिपकली की जान ज्यादाबार बचाती है होता यू है की जब भी कोई दुश्मन छिपकली की पुंछ पकड़ता है तो छिपकली अपनी पुंछ को अपने शरीर से अलग कर देती है जिससे दुश्मन का ध्यान भंग हो जाता है और छिपकली काही जाकर छुप जाती है |
    • अक्सर घरो मे छिपकलिया आपने देखा होगा लेकिन आपको यह नहीं मालूम होगा की छिपकली अपना कलर या रंग भी बदल सकती है लेकिन ऐसा कुछ भी छिपकली कर पाती है |
    • दुनिया मे आपको हर जगह छिपकली देखने को मिल जाएगा लेकिन अंटार्कटिका महादीप मे आपको छिपकली नही देखेने को मिलेगा क्योकि यह महादीप बहुत ठंडा है और ठंडे जगह पर छिपकली का जीवन संभव नहीं है |
    • अगर आपको कोई छिपकली दिखे धूप मे सोते हुए तो समझिए वह सो नहीं रही बल्कि वह अपने शरीर पर निशाना शाध रही है |
    • छिपकली का दिल जो है वह 1 मिनट मे 1 हजार बार धड़कता है
    दीवार से छिपकली क्यू नहीं गिरती ?
    यह सवाल आपके मन मे जरूर आता होगा की छिपकली दीवार पर चिपक कर कैसे दौड़ लेती है या चल लेती है तो चलिये जानते है - छिपकली के पैर छोटे होते है और शरीर की बनावट बेलनाकार साथ ही इनके पैरो की बनावट कुछ ऐसी होती है कि जब छिपकली दीवार पर चलती है तो छिपकली और दीवार के बीच मे निर्वात या शून्य पैदा होता है जिस कारण उनके पैर दीवार पर चिपक जाते है साथ ही बाहरी हवा का दबाव भी उन्हे गिरने से रोकती है जिस कारण नहीं गिरती