देर से विवाह शादी करने के नुकसान ?

देर से विवाह शादी करने के नुकसान ? Sahdi Deri Se karne ke Nuksan shadi ke nuksan in hindi shadi na karne ke bahane shadi karne ke fayde

    Sahdi Deri Se karne ke Nuksan - एक सामन्य व्यक्ति कभी न कभी शादी विवाह मे बंध जाता है या बांध दिया जाता है | कुछ लोगो की शादी विवाह सही उम्र मे हो जाती है तो कुछ लोगो की शादी मे देरी हो जाती है इसके पीछे कई कारण हो सकते है जैसे कैरियर बनाने के चक्कर मे, किसी लड़की से प्रेम प्रसंग चक्कर मे इत्यादि आगे जाने 

    जिंदगी मे सब कुछ सही टाइम पर हो जाए तो बढ़िया है क्योकि देर होने से कई नुकसान होते है और शादी मे अगर देर हो जाती है तो स्पार्क खत्म होने लगता है | कानूनन लड़की की शादी की उम्र 24 से 25 साल और लड़को की 27 वर्ष सही मानी जाती है | लेकिन आज के समय ऐसा नहीं हो पा रहा है | लोग शादी मे काफी देरी कर रहे है तो आज हम आपको शादी विवाह देर से करने के नुकसान बता रहे है आइये जाने |


    der se shadi karne ke nuksan

    • पति पत्नी मे झगड़ा - अधिक देरी से विवाह करने पर ज़िम्मेदारी और प्राथमिकताए बदलने के कारण कपल एक दूसरे को समझ नहीं पाते है और नतीजा वह एक दूसरे से बात बात मे झगड़ा करते रहते है
    • प्रेग्नेंसी समस्या - अधिक उम्र मे अगर महिला शादी करती है तो उसे पता होना चाहिए की आपके गर्भधरण करने मे समस्या हो सकती है | क्योकि बढ़ती उम्र के साथ महिलाए के प्रजनन क्षमता पर असर पड़ता है
    • इंटरटेनमेंट मे मन न लगना - अधिक उम्र होने पर महिलाओ के शारीरिक क्रिया मे मन नहीं लगता और वह उदासीन होने लगती है | इस कारण पति पत्नी मे झगड़ा होता रहता है 
    • पीरियड मे समस्या - शादी देर से करने पर महिलाओं में माहवारी की समस्या भी हो जाती है। पीरियड्स समय से पहले बंद हो जाने से उनका शरीर कमजोर हो जाता है
    • इसलिए बरखुदार अगर आप भी भटक गए हैं राह और हो गए हैं अपनी प्रोफेशनल लाइफ में ज्यादा बिजी तो जरा इन पॉइंट्स को पढ़े और जल्दी ही बना लें शादी का मन क्योंकि ऐसा न हो कि जब आपका शादी का मन हो तब तक प्यार की डोर आपके हाथ से छूट चुकी हो।

    👉शादी के लिए लड़की लड़का का नंबर फ्री में पाए रजिस्टर करे

    Iklan Atas Artikel

    Iklan Tengah Artikel 1

    Iklan Tengah Artikel 2

    Iklan Bawah Artikel