पाद क्या है में कौन सी गैस होती है meaning in hindi

    fart meaning in hindi पाद मारना मनुष्य के लिए प्राकृतिक क्रिया है इसलिए लोग पाद या गैस छोड़ते है कई बार सवाल किया जाता है पाद में कौनसी गैस होती है ? पाद आने के क्या फायदे है ? बार बार पाद आना क्या सही है ? आज हम आपको बताने जा रहे है पाद को रोकना क्या सही है और इसके क्या नुकसान हो सकते है . आज जिस तरह की लाइफस्टाइल हम जी रहे है उसी लाइफस्टाइल के कारण हम कुछ भी खा पी लेते है | ऐसे मे एसिडिटी यानि पेट की समस्या होना कोई नई बात नहीं और लोग पेट की गैस [ पाद ] को सबके सामने करने मे शर्मिंदगी सी महसूस करते है और इस कारण लोग पब्लिकी गैस पास करने से बचते है या फिर पेट मे ही गैस घंटो तक रोक लेते है तो ऐसे मे आपको यह जानना बेहद जरूरु हो जाता है क्या गैस को पेट मे रोकना घातक तो नहीं या ऐसा करने से कोई समस्या हो सकती है

    fart meaning in hindi

    पाद में कौनसी गैस होती है ?

    • नाइट्रोजन - 59%
    • हाइड्रोजन - 21%
    • कार्बन डाई आक्साइड - 9%
    • मिथेन - 7%
    • आक्सीजन - 4% 
    • सल्फर - 1%

    पाद रोकने से नुकसान ?

    हम जो खाते है वह कभी कभी हजम नहीं हो पाता है ऐसा लैक्टोस या ग्लूकोज ईंटलॉरेंस के कारण होता है और पेट मे एसिडिटी की समस्या हो जाती है | जब पेट मे अधिक गैस बन जाता है तो वह बाहर निकालना चाहता है और अगर इस गैस को रोकने की कोशिश करेंगे तो आपके पेट मे दर्द की समस्या हो सकती है तो आप इस समस्या से बचने के लिए समय पर गैस बाहर निकाल देना चाहिए |

    आंत की समस्या 
    जी हाँ अगर आपके बड़ी आंत मे समस्या रहती है तो आपको गैस बिलकुल भी नहीं रोकना चाहिए क्योकि अगर आप रोकते है तो आपकी आंत मे परेशानी हो सकतीं है |

    गैस्ट्रोइंटेस्टिनल ट्रैक्ट में हो सकती है समस्‍या - 

    गैस्ट्रोइंटेस्टिनल ट्रैक्ट में मतली या फिर उल्टी जैसी समस्या बन सकती है तो अगर आप इससे बचना चाहते है तो आप अपने पेट को साफ रखे | इसके लिए आप प्रोबायोटिक भी ले सकते है |